Budget 2022: बजट की घोषणा के बाद अब महंगा होने वाला है ये खास पेट्रोल, जानिए कितनी बढ़ोतरी होगी इनकी कीमतो में! Featured

बोलता गांव डेस्क।। बजट 2022 में आम आदमी को महंगाई के मोर्चे पर बड़ा झटका लगा है। बजट में नॉन ब्लेंडेड पेट्रोल-डीजल पर 2 रुपए एक्स्ट्रा एक्साइज ड्यूटी लगाने का ऐलान किया गया है। यानी जो एक्साइज ड्यूटी पेट्रोल पर अभी 27.90 रुपए प्रति लीटर के हिसाब से वसूली जाती है, वो बढ़कर 29.90 रुपए हो जाएगी। इसी तरह, डीजल पर ड्यूटी 21.80 रुपए से बढ़कर 23.80 रुपए हो जाएगी।

 

पेट्रोल-डीजल पर ये टैक्स 1 अक्टूबर 2022 से लगाया गया है। यानी उत्तर प्रदेश, पंजाब और गोवा समेत 5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए पेट्रोल-डीजल के दाम अभी न बढ़ाकर चुनाव के बाद बढ़ाने का फैसला लिया गया है। अगर इसका बोझ आम आदमी पर पड़ता है तो उन्हें पेट्रोल के लिए ढाई रुपए तक ज्यादा चुकाने होंगे।

 

सबसे पहले समझें नॉन ब्लेंडिंग क्या होता है?

बढ़ते प्रदूषण को कम करने के लिए सरकार पेट्रोल-डीजल में एथेनॉल ब्लेंडिंग को बढ़ावा दे रही है। ब्लेंडेड फ्यूल में एथेनॉल मिलाया जा रहा है। आप अभी जो सादा पेट्रोल-डीजल ले रहे हैं, वो नॉन ब्लेंडेड होता है। इधर, एक्स्ट्रा प्रीमियम और स्पीड जैसे पेट्रोल-डीजल ब्लेंडेड रहते हैं। ऐसे में ईंधन में ब्लेंडिंग को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने ये कदम उठाया है। अभी कुल बिकने वाले पेट्रोल-डीजल में लगभग 50% नॉन ब्लेंडिंग वाला है।

 

कितना महंगा हो जाएगा पेट्रोल-डीजल?

अगर राजधानी दिल्ली की बात करें, तो यहां अभी पेट्रोल 95.41 रुपए लीटर बिक रहा है। इसमें कई तरह के टैक्स और कमीशन भी जुड़े रहते हैं। अगर 2 रुपए एक्साइज ड्यूटी बढ़ती है, तो पेट्रोल-डीजल की कीमत 2.50 रुपए तक बढ़ सकती है।

 

 

 

महंगाई वाला बजट 2022:सादा पेट्रोल और डीजल पर 2 रुपए का एक्स्ट्रा टैक्स, असर- दिल्ली में अक्टूबर से ढाई रुपए तक महंगे हो जाएंगे

नई दिल्ली5 घंटे पहले

 

बजट 2022 में आम आदमी को महंगाई के मोर्चे पर बड़ा झटका लगा है। बजट में नॉन ब्लेंडेड पेट्रोल-डीजल पर 2 रुपए एक्स्ट्रा एक्साइज ड्यूटी लगाने का ऐलान किया गया है। यानी जो एक्साइज ड्यूटी पेट्रोल पर अभी 27.90 रुपए प्रति लीटर के हिसाब से वसूली जाती है, वो बढ़कर 29.90 रुपए हो जाएगी। इसी तरह, डीजल पर ड्यूटी 21.80 रुपए से बढ़कर 23.80 रुपए हो जाएगी।

 

पेट्रोल-डीजल पर ये टैक्स 1 अक्टूबर 2022 से लगाया गया है। यानी उत्तर प्रदेश, पंजाब और गोवा समेत 5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए पेट्रोल-डीजल के दाम अभी न बढ़ाकर चुनाव के बाद बढ़ाने का फैसला लिया गया है। अगर इसका बोझ आम आदमी पर पड़ता है तो उन्हें पेट्रोल के लिए ढाई रुपए तक ज्यादा चुकाने होंगे।

 

सबसे पहले समझें नॉन ब्लेंडिंग क्या होता है?

बढ़ते प्रदूषण को कम करने के लिए सरकार पेट्रोल-डीजल में एथेनॉल ब्लेंडिंग को बढ़ावा दे रही है। ब्लेंडेड फ्यूल में एथेनॉल मिलाया जा रहा है। आप अभी जो सादा पेट्रोल-डीजल ले रहे हैं, वो नॉन ब्लेंडेड होता है। इधर, एक्स्ट्रा प्रीमियम और स्पीड जैसे पेट्रोल-डीजल ब्लेंडेड रहते हैं। ऐसे में ईंधन में ब्लेंडिंग को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने ये कदम उठाया है। अभी कुल बिकने वाले पेट्रोल-डीजल में लगभग 50% नॉन ब्लेंडिंग वाला है।

 

कितना महंगा हो जाएगा पेट्रोल-डीजल?

अगर राजधानी दिल्ली की बात करें, तो यहां अभी पेट्रोल 95.41 रुपए लीटर बिक रहा है। इसमें कई तरह के टैक्स और कमीशन भी जुड़े रहते हैं। अगर 2 रुपए एक्साइज ड्यूटी बढ़ती है, तो पेट्रोल-डीजल की कीमत 2.50 रुपए तक बढ़ सकती है।

 

 

पेट्रोल की कीमत में टैक्स का बड़ा हिस्सा

पेट्रोल की बात करें तो अभी बेस प्राइस, भाड़ा, एक्साइज ड्यूटी और डीलर कमीशन मिलाने के बाद इसकी कुल कीमत 79.91 रुपए हो जाती है। इस पर दिल्ली सरकार 19.40% वैट लगाती है जिसके बाद पेट्रोल की कीमत 95.41 रुपए लीटर हो जाती है। वहीं अगर एक्साइज ड्यूटी 2 रुपए बढ़ती है तो 79.91 रुपए के बजाय 81.91 रुपए पर 19.40% टैक्स लगेगा। इसके बाद 1 लीटर पेट्रोल के लिए आपको 97.80 रुपए चुकाने होंगे। यानी आपको 2.39 रुपए ज्यादा देने होंगे।

 

अब समझें डीजल की कीमत का गणित

डीजल की बात करें तो अभी बेस प्राइस, भाड़ा, एक्साइज ड्यूटी और डीलर कमीशन मिलाने के बाद इसकी कुल कीमत 73.99 रुपए हो जाती है। इस पर दिल्ली सरकार 16.75% वैट लगाती है जिसके बाद डीजल की कीमत 86.67 रुपए लीटर हो जाती है। वहीं अगर एक्साइज ड्यूटी 2 रुपए बढ़ती है तो 73.99 रुपए की जगह 75.99 रुपए पर 16.75% टैक्स लगेगा । इसके बाद 1 लीटर डीजल के लिए आपको 88.72 रुपए चुकाने होंगे। यानी 2.05 रुपए ज्यादा चुकाने होंगे।

 

3 साल में पेट्रोल-डीजल से 8 लाख करोड़ की कमाई

बीते 3 साल में पेट्रोल-डीजल पर टैक्स (एक्साइज ड्यूटी) लगाकर सरकार ने 8 लाख करोड़ से ज्यादा की कमाई की है। एक्साइज ड्यूटी से 2020-21 में 3,71,908 करोड़, 2019-20 में 2,19,750 करोड़ और 2018-19 में 2,10,282 करोड़ रुपए सरकारी खजाने में गए हैं।

 

कीमत कितनी बढ़ेगी, अभी ये क्लियर नहीं

पेट्रोलियम मार्केट एक्सपर्ट शिशिर सिन्हा ने बताया कि कीमतों को लेकर सरकार ने कुछ भी ठीक से क्लियर नहीं किया है। ऐसे में इससे फ्यूल कितना महंगा होगा या महंगा होगा भी या नहीं, इसको लेकर अभी कुछ भी कहा नहीं जा सकता है। सरकार ने इसे 1 अक्टूबर से लगाने का फैसला किया है। ऐसे में सरकार इसको लेकर जब अपना रोड मैप या प्लान बताएगी, तब ही कीमतों को लेकर तस्वीर साफ हो सकेगी।

Rate this item
(0 votes)

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

RO No 12784/11 "
Samvad B

Post Gallery

Bhilai Cyber Fraud: ऑनलाइन वर्क से कमाई के चक्‍कर में गंवाए 80 लाख रुपये, रील्स देखकर महिला हुई ठगी का शिकार

Sheikh Hasina India Visit: भारत पहुंची बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना, प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रपति भवन में किया स्‍वागत

मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आयोजित राज्य स्तरीय सामूहिक योगाभ्यास में हुए शामिल

निवेशकों ने मुख्यमंत्री से मिलकर छत्तीसगढ़ में निवेश करने में दिखाई रूचि

नालंदा एक मूल्य है, मंत्र है, गौरव है, गाथा है- PM Modi

अयोध्या में राम मंदिर की सुरक्षा में तैनात जवान की गोली लगने से मौत, जांच जारी

पाकिस्तानी फैन की विजय शंकर ने बताई करतूत, क्यों दे रहा था गालियां?

Delhi Excise Policy Case: अरविंद केजरीवाल को झटका, न्यायिक हिरासत फिर बढ़ी

गणतंत्र दिवस परेड नई दिल्ली में शामिल कैडेट्स और प्रशिक्षक हुए सम्मानित