अकाल के डर से जूझ रहे बिलासपुर के किसानों पर बरसी मुसीबत, बारिश से फसलों को भारी नुकसान Featured

बोलता गांव डेस्क।।

रायपुर। बंगाल की खाड़ी से आने वाली नम हवाओं के चलते छत्तीसगढ़ के मौसम में उतार-चढ़ाव का दौर जारी है। मौसम विभाग ने एक बार फिर मौसम में पुनः बदलाव के संकेत दिए हैं। मौसम विभाग की माने तो आगामी दो मार्च से बारिश का दौर शुरू होगा। इसके साथ ही न्यूनतम तापमान में थोड़ी गिरावट आएगी। प्रदेश में सबसे ठंडा अंबिकापुर रहा, जहां का न्यूनतम तापमान 13.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। कुछ क्षेत्रों में हल्की बारिश भी हुई। बिलासपुर में 3 सेमी, मनोरा में 4 सेमी, बगीचा में 2 सेमी, मरवाही में 3 सेमी, धरमजयगढ़ में 1 सेमी बारिश हुई।

अधिकतम तापमान में गिरावट रही व न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी देखने को मिली। बेमौसम बारिश से खरीफ की फसलों को काफी नुकसान हुआ है जिसने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। वहीं राजधानी का अधिकतम तापमान 32.6 डिग्री व न्यूनतम तापमान 20.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ. अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम व न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम रहा। इस साल बीते 10 सालों की तुलना में जनवरी और फरवरी माह में काफी कम ठंड पड़ी. ज्यादातर दिन तो न्यूनतम तापमान सामान्य से ज्यादा ही रहे।

Rate this item
(0 votes)

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

RO No 12784/11 "
Samvad B